NCB प्रमुख श्री राकेश अस्थाना जी को सीबीआई में बनाया जा सकता है डायरेक्टर

0
64

नमस्कार मित्रो …. नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एन.सी.बी.) के अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार करके 3 महीने से चल रही इस कहानी को बड़ा मोड़ देने के कारण इसके महानिदेशक राकेश अस्थाना का रुतबा दिल्ली में राजनीतिक नेतृत्व की आंखों में काफी बढ़ गया है।

सुशांत सिंह राजपूत मामले में जब सी.बी.आई. व प्रवर्तन निदेशालय (ई.डी.) नाकाम हो रहे थे, अस्थाना ने रिया चक्रवर्ती व अन्य के विरुद्ध सबूत ढूंढकर बाजी पलट दी।

रिया समेत अन्य लोगों से कई हफ्तों तक 50 घंटे से भी अधिक समय की पूछताछ करके भी सी.बी.आई. निदेशक आर.के. शुक्ला व ई.डी. के निदेशक संजय कुमार मिश्रा खाली हाथ थे। ई.डी. के एक शीर्ष अधिकारी, जिन्हें विशेष रूप से दिल्ली से मुम्बई भेजा गया था, ने वहां से अपने वरिष्ठों से कहा था-‘सॉरी सर! कोई सुराग नहीं मिल रहा।’

इसके बाद निराश होकर संजय मिश्रा ने हाथ खड़े कर दिए, उसके बाद एन.सी.बी. ने मौका संभाला। एन.सी.बी. ने यह कारनामा मात्र एक हफ्ते में करके रिया को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया और उबल रहे बिहार को शांत किया। जानकारों का कहना है कि अस्थाना के अगला सी.बी.आई. प्रमुख बनने की संभावना बहुत बढ़ गई है।

आर.के. शुक्ला अगले साल सी.बी.आई. प्रमुख पद से रिटायर होने वाले हैं। अस्थाना पहले सी.बी.आई. के विशेष निदेशक थे और उन्हें पिछले साल इस विभाग से शिफ्ट कर दिया गया था। उनकी सी.बी.आई. निदेशक आलोक वर्मा से बहुत बुरी तरह ठन गई थी।

वर्मा खुद भी हटा दिए गए थे। राकेश अस्थाना को बी.एस.एफ. का महानिदेशक बना दिया गया था और एन.सी.बी. का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया था। वह 1985 बैच के गुजरात कैडर के आई.पी.एस. अधिकारी हैं तथा केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के करीबी हैं।